To subscribe By E mail

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile

Tuesday, March 13, 2012

निरंतर कह रहा .......: जीवन एक विशालकाय कैनवास

निरंतर कह रहा .......: जीवन एक विशालकाय कैनवास: जीवन एक विशालकाय कैनवास से कम नहीं  चित्रकार परमात्मा का अमिट सृजन सुख दुःख , हँसी खुशी , विपदा , विलाप , दया , क्रोध प्यार , इर्ष्या द्वेष ...

No comments: