To subscribe By E mail

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile

Saturday, February 25, 2012

निरंतर कह रहा .......: जब जहर पीते रहना है,घुट घुट कर जीना है

निरंतर कह रहा .......: जब जहर पीते रहना है,घुट घुट कर जीना है: जब जहर पीते रहना है घुट घुट कर जीना है कुछ करूंगा तो भी तोहमत लगेगी ना करूंगा तो भी तोहमत लगेगी हर बार गुनाहगार कहलाऊंगा खुद को ...

No comments: