To subscribe By E mail

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile

Thursday, February 16, 2012

निरंतर कह रहा .......: हमने ही रोने का कोई बहाना नहीं बनाया

निरंतर कह रहा .......: हमने ही रोने का कोई बहाना नहीं बनाया: हमने ही रोने का कोई बहाना नहीं बनाया जी भर के अश्कों को बहने दिया क्या होता अगर सच को झुठलाते ? हमेशा की तरह कोई बहाना बनाते मन ही मन निरंत...

No comments: