To subscribe By E mail

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile

Tuesday, May 29, 2012

निरंतर कह रहा .......: क्रोध पर कविता -मैं नहीं कहता तुम मेरी मानो

निरंतर कह रहा .......: क्रोध पर कविता -मैं नहीं कहता तुम मेरी मानो: मैं नहीं कहता तुम मेरी मानो पर ध्यान से सुन तो लो मुझे प्रतीत होता है तुम्हें क्रोध बहुत आता है आवेश में जो नहीं कहना चाहि...

No comments: