To subscribe By E mail

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile

Tuesday, May 29, 2012

निरंतर कह रहा .......: भ्रूण ह्त्या पर कविता-मुझे जन्म तो लेने दो

निरंतर कह रहा .......: भ्रूण ह्त्या पर कविता-मुझे जन्म तो लेने दो: मुझे जन्म तो लेने दो संसार को देखने तो दो वैसे ही बहुत कुछ सहना होगा लपलपाती नज़रों से खुद को बचाना होगा पुरुषों का तिरिस्कार...

No comments: