To subscribe By E mail

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile

Wednesday, April 18, 2012

निरंतर कह रहा .......: भीड़ के साथ भागता रहा

निरंतर कह रहा .......: भीड़ के साथ भागता रहा: निरंतर दौड़ता रहा भीड़ के साथ भागता रहा मन में व्यथित होता रहा जीवन आनंद ना ले सका धन वैभव को सब कुछ समझता रहा कितना सही कितना...

No comments: