To subscribe By E mail

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile

Monday, June 25, 2012

निरंतर कह रहा .......: कितनी नाव,कितने मांझी बदलोगे

निरंतर कह रहा .......: कितनी नाव,कितने मांझी बदलोगे: कितनी नाव कितने मांझी बदलोगे कितने दोस्त कितने साथी बदलोगे अब अपनी इस फितरत को विराम मचलते मन को विश्राम दे दो ज़िन्द...

No comments: