To subscribe By E mail

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile

Sunday, June 3, 2012

निरंतर कह रहा .......: घर की खामोशी

निरंतर कह रहा .......: घर की खामोशी: घर की खामोशी हर पल दिल को चीरने लगी आपस में कलह साफ़ दिखने लगी सुबह को ही शाम होने लगी एक दूसरे पर ऊंगली उठने लगी प...

No comments: