To subscribe By E mail

Enter your email address:

Click Here To Subscribe On Mobile

Tuesday, July 23, 2013

"निरंतर" की कलम से.....: कभी जब लिखने बैठता हूँ

"निरंतर" की कलम से.....: कभी जब लिखने बैठता हूँ: कभी जब लिखने बैठता हूँ शब्द खो जाते हैं कलम रुक जाती है कागज़ रीता रह जाता है मन से पूछता हूँ ऐसा क्यों होता है बुझे चेहर...

No comments: